Homeबिहारनीतीश कुमार ने वर्चुअल संवाद में बताया बिहार क्यों नहीं बना आद्योगिक...

नीतीश कुमार ने वर्चुअल संवाद में बताया बिहार क्यों नहीं बना आद्योगिक राज्य।

- Advertisement -

आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने चुनाव अभियान की शुरुआत की। आनेवाले बिहार विधानसभा चुनाव के लिए जेडीयू ने सोमवार को चुनावी कैंपेन को शुरू करते हुए जेडीयू के अध्यक्ष और सीएम नीतीश कुमार ने अपने भाषण में विकास की चर्चा की, साथ साथ उन्होंने लालू और राबड़ी राज पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने दलितों की हत्या होने पर परिवार वालों को नौकरी देने का प्रावधान किया और इस पर भी कुछ लोग सवाल उठाने लगे। उन्होंने कहा कि संविधान में जो अधिकार हमें मिला था उसे हमने नियम बनाकर लागू किया फिर भी इसमें भी उनको परेशानी है। आज तक तो वे लोग सिर्फ वोट लेकर बेवकूफ बनाते रहे। उनका कहना था कि हम वोट की चिंता नहीं करते, सेवा ही हमारा धर्म है।

- Advertisement -

नीतीश कुमार ने आगे कहा कि आज कल कुछ लोग बिहार के बारे में आर्टिकल लिख रहे हैं लेकिन उन्हें यह दिखाई नहीं दे रहा कि हमारा विकास दर 10 प्रतिशत से अधिक है। उनका कहना है कि यह सही बात है कि कोई बड़ा उद्योग धंधा नहीं लग पाया है लेकिन छोटे स्तर पर कई उद्योग लगे हैं। हमारे यहां ज्यादा बड़ा उद्योग नहीं लग सकता। हमलोगों ने काफी कोशिश की लेकिन बिहार में बड़े उद्योगपति नहीं आ पाए क्यूंकि बड़े उद्योगपति समुद्र किनारे वाले राज्यों को पसंद करते हैं लेकिन आज कल लोग कुछ भी बोलते रहते हैं।

- Advertisement -

नीतीश कुमार ने कहा कि जनता ही मालिक है। हमें काम के आधार पर वोट दीजिए। अगर हमारा काम पसंद है तो मौका दीजिए अगर काम पसंद नहीं है तो फैसला करने का अधिकार आपको है, पर इतना जरूर जान लीजिए कि दूसरे लोगों में दम नहीं है और वे लोग सिर्फ जुबान चलाते हैं, समाज को बांटने में लगे हैं। इन लोगों को न काम करने का अनुभव है और न इच्छाशक्ति। राजद पर परिवारवाद का आरोप लगाते हुए नीतीश ने कहा कि कुछ लोगों के लिए पति-पत्नी और बेटा-बेटी ही परिवार हैऔर ये लोग निजी परिवारवाद पर चल रहे हैं। मेरे लिए तो पूरा बिहार ही परिवार है।

- Advertisement -

2 1रोजगार की बात करते हुए मुख्यमंत्री ने इस दौरान बिना नाम लिए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के रोजगार देने के वादे पर व्यंग किया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग बेरोजगारी पर बहुत बात करते रहते हैं। कहते हैं कि कैबिनेट की मीटिंग कर बहुत रोजगार दे देंगे। अरे भाई, पहले बताइये कि आपके परिवार के 15 साल के शासन में कभी कैबिनेट की मीटिंग होती थी क्या और दुनिया में कौन से देश में हर किसी को सरकारी नौकरी मिलती है, ये संभव है क्या, इसलिए कहते हैं, सचेत रहिए।

- Advertisement -

न्यूज़ अपडेट

- Advertisment -

शिक्षा एवं रोजगार

- Advertisment -