Sunday, June 26, 2022
33 C
Patna
Home Blog

पार्टी के नाम पर छलका जाम, प्रेमिका गिरफ्तार और प्रेमी हुआ फरार

0

बिहार में शराबबंदी होने के बावजूद भी शराब पार्टी का मामला प्रकाश में आया है जहां एक होटल के कमरे में ही बर्थडे पार्टी को शराब पार्टी में तब्दील कर दिया गया. पटना के शास्त्री नगर के शिवपुरी स्थित होटल में शराब पार्टी चल रही थी. मिली जानकारी के मुताबिक गर्दनीबाग की एक युवती ने शास्त्री नगर में अपनी ID पर होटल का कमरा बुक किया था. केक के कटते ही शराब पार्टी शुरू हो गई. वहीं एक अपराधी की तालाश में जब पटना पुलिस ने उस होटल में छापा मारा तो शराब पार्टी की पोल भी खुल गई.

पुलिस के आने की सूचना जैसे ही युवती के प्रेमी को मिली वो कमरे की खिड़की से कूद कर मौके से फरार हो गया और युवती शराब के नशे में धुत पाई गई. मिली जानकारी के अनुसार लड़की के साथ उसके और भी कई दोस्त आये थे लेकिन वह थोड़ी देर में ही चले गए थे. पुलिस ने पाया की इस होटल में बर्थडे पार्टी के नाम पर अय्याशी चल रही थी. ऐसे में युवती के साथ मैनेजर को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. वहीं, होटल के कमरे की तलाशी के दौरान कई आपत्तिजनक सामान भी बरामद किया गए हैं.

सिपाही ने महिला को दी आपत्तिजनक तस्वीरें वायरल करने की धमकी तो महिला ने किया उसका ऑडियो वायरल

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से खाकी वर्दी में छिपे एक शैतान की खबर प्रकाश में आई है. सिपाही महिला कि अश्लील तस्वीरें खीच वायरल करने कि धमकी देकर ब्लैकमेल कर रहा हैं. महिला का कहना है कि थाना का एक सिपाही मुझे ब्लैकमेल कर रहा है. सिपाही महिला को कॉल कर शाम होने के बाद मिलने को बुलाता है. कहता है अकेले मिलने आना. तभी तुम्हारी फोटो डिलीट करूंगा. अगर तेज़ बनने की कोशिश की तो फोटो वायरल कर दूंगा. सिपाही के ब्लैकमेल से महिला को काफी मानसिक तनाव झेलना पर रहा है. सिपाही से परेशान महिला ने उसकी बातें रिकॉर्ड की और मीडिया को घटना कि पूरी बात बताते हुए महिला ने फ़ोन कि रिकॉर्ड ऑडियो मीडिया को सुनाई. आरोपी सिपाही अहियापुर थाने में तैनात है.

महिला ने सिपाही का जो कॉल रिकॉर्ड किया था उसमें उसने कहा है- “थाना के बाहर आना अकेले ही आना और कोई चालाकी मत करना, वरना मुझसे बुरा कोई नहीं होगा. जब महिला ने पूछा कि वहां आने से क्या होगा. इस पर आरोपित ने कहा कि आओगी तो बताएंगे. तुम्हें कुछ देना होगा, फोटो डिलीट करने के लिए. महिला ने कहा कि क्या देना होगा पैसे? उसने कहा कि आने के बाद बताएंगे.

पीड़िता महिला ने बताया कि पुलिस ने बाइक चोरी के आरोप में घर में छापामारी थी. पुलिस ने मेरे पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. उसी वक़्त मैं बच्चे को लेकर अस्पताल जाने के लिए अपने कमरे में कपड़े बदल रही थी. इसी दौरान सिपाही ने मेरी आपत्तिजनक तस्वीर खींच ली थी. अब उसी फोटो को वायरल करने की धमकी दे रहा है. महिला का यह भी कहना कि आरोपी के खिलाफ उसने थाने में शिकायत भी दर्ज कराई लेकिन अहियापुर थानेदार सुनील रजक ने उनकी कोई मदद नहीं की जिससे महिला काफी निराश हो गई. जब थानेदार सुनील रजक से इस मामले पूछा गया तो उन्होंने कहा महिला के आरोप बेबुनिआद हैं. सिपाही रविरंजन ने ही उस महिला के पति को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया था. इसलिए महिला सिपाही को फंसा रही है.

आरोपी सिपाही महिला को वॉट्सएप पर भी मैसेज करता था. सिपाही ने महिला कि तस्वीर भी भेजी थी और कुछ अश्लील बातें लिखी थीं, लेकिन फिर आरोपित ने इसे डिलीट कर दिया था. पीड़िता महिला ने इसका स्क्रीन शॉट लिया, लेकिन तब तक वह चैट डिलीट कर चुका था. लेकिन महिला का दावा है कि कुछ मैसेज अब भी उसके पास मौजूद हैं.

प्रेम-प्रसंग में यूपी से पटना आये प्रेमी ने Facebook Live के बाद कर ली आत्महत्या

25 वर्ष का यूपी का रहने वाला परमजीत सिंह ने पंखे से फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली. आत्महत्या से पहले उसने फेसबुक पर लाइव किया फिर अपनी जान दे दी. बीते रविवार की यह घटना है. पटना सिटी स्थित गुरुद्वारे के एनआरआई गेस्ट हाउस के रूम नंबर-107 में युवक परमजीत सिंह ने वर्षों के प्यार को खोने के बाद आत्महत्या कर लिया. उसका प्यार अधूरा रह गया और मरने से पहले उसने अपनी प्रेमिका से कहा कि अपना ख्याल रखना और बाबू दवाई लेती रहना. रविवार को दिन में 11 बजे वह पटना आया था. रजिस्टर में उसने घर का पता यूपी का कादरगढ़ नीलाशी बताया. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. युवक की पहचान उत्तर प्रदेश के शामली जिले के कादरगढ़ के रहने वाले सरदार परमजीत सिंह के रूप में की गई है. मिली जानकारी के अनुसार परमजीत सिंह दिल्ली गुरुद्वारा में ग्रन्थि था और वहीं प्रवचन देता था. दिन भर सिमरन से मिलने के प्रयास में नाकाम हुआ. सिमरन ने मिलने से इनकार कर दिया तो उसने अपनी जान दे दी.

पंजाबी भाषा में फेसबुक लाइव में उसने बोला – मैं इस दुनिया में किसी से नहीं हारा लेकिन मेरे अपने प्यार ने मुझे हरा दिया. बहुत प्यार करता था उससे मैं वह भी प्यार करती थी मुझसे और घरवालों को भी पता था. मेरी गलती से ही कुछ दूरी हो गई थी फिर भी छह महीने तक बातचीत चलती रही. 19 नवंबर को उसने मना कर दिया बात करने से तब मुझे लगा कि कुछ दिन में सब ठीक हो जाएगा लेकिन उसने दिन-रात कॉल के बावजूद उसने मुझसे बात नहीं की. पता चला कि मेरी सिमरन पटना साहिब गुरुद्वारा आई है . मैं उससे मिलना चाहता था और उसका चेहरा देखना चाहता था. यहां उससे मिलने आया तो उसने मुड़कर भी नहीं देखा. अपनी सिमरन को कहकर जा रहा हूं कि अपना हमेशा ख्याल रखना. अपना घर बसा लेना. आज भी और मरने के बाद भी प्यार करता रहूंगा. मेरी सिमरन को कोई कुछ नहीं कहेगा. बाबू अपना ख्याल रखना. दवाई लेती रहना.

तीन महीने बाद ही नयी नवेली दुल्हन मौका देखकर अपने प्रेमी संग हुई फरार

बिहार कि राजधानी पटना का एक मामला सामने आया है. जहां एक नव विवहित दुल्हन अपने प्रेमी के संग फरार हो गई. कहा जा रहा है कि लड़की की शादी 29 मई 2021 को आरा भोजपुर में हुई थी. रक्षाबंधन के त्योहार पर महिला अपने मायके नानी के घर बिहटा के गोकुलपुर आई थी. घटना शुक्रवार शाम बिहटा में हुआ. महिला शादी के केवल तीन महीने बाद अपने परिवार और ससुराल वालों को झांसा देकर प्रेमी के साथ फरार हो गई है. बताया जा रहा है कि बिहटा के गोकुलपुर निवासी जामोद शर्मा की बेटी सीमा कुमारी की शादी 3 महीने पहले भोजपुर के बिरनपुर के रहने वाले संजीत कुमार के साथ हुई थी. शादी के बाद सीमा कुमारी रक्षाबंधन के मौके पर अपने नानी के घर बिहटा थाना अंतर्गत गोकुलपुर गांव पहुंची थी. शुक्रवार शाम वह अपनी मां सुनीता देवी को साथ लेकर मार्केट में शॉपिंग करने गई थी. इस बीच सीमा ने अपनी मां को कहा तुम यहाँ बैठो में थोड़ी देर में वापस आ रही हूँ. मौका देखकर सीमा अपने प्रेमी के साथ फरार हो गई. काफी वक़्त बीत जाने के बाद जब सीमा वापस नहीं आई तो सीमा कि मां को उसकी चिंता होने लगी तब सीमा कि मां ने फ़ोन कर अपने परिवार को इस घटना कि जानकारी दी.

सीमा के प्रेमी संग फरार हो जाने के बाद परिवारवालों ने बिहटा थाने में लिखित शिकायत दी है. पुलिस ने मामला दर्ज कर के महिला और उसके प्रेमी को पकड़ने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है. सीमा के पिता ने बताया कि आरा किशुनपुर का रहने वाला सिंटू कुमार शादी के पहले से ही मेरी बेटी से बातचीत करता था. मुझे पूरा विश्वास है कि सिंटू ने ही मेरी बेटी को बहला-फुसलाकर भगाने का काम किया है. इधर इस घटना से अनजान युवती के ससुरालवालों ने उसके मायकेवालों को फोन कर कहा कि बहू की विदाई जल्द से जल्द कर दें. जिसके बाद लड़की के परिवारवालों की मुश्किलें बढ़ गईं. इधर, मामला के जांच कर रहे बिहटा थाना के राजेश्वर पंडित का कहना है कि पुलिस ने लड़की के भगाने की FIR लिख ली है. पुलिस मामले के जांच में जुट गई है और पुलिस जल्द उन दोनों को अपनी गिरफ्त में ले लेगी.

बिहार : इंजीनियर की गाड़ी से मिला 18 लाख कैश, आचार संहिता उल्लंघन का केस दर्ज

बिहार से एक बड़ी खबर आ रही है. पुलिस ने गुप्त सुचना के आधार पर दरभंगा के ग्रामीण कार्य विभाग के अधीक्षण अभियंता अनिल कुमार की गाड़ी से 18 लाख रुपये नकद बरामद किए हैं. मुजफ्फरपुर और वैशाली जिले की सीमा स्थित कुढ़नी थाना की फकुली ओपी चेक प्वाइंट पर पुलिस ने जांच के दौरान अनिल कुमार नाम के इंजीनियर 18 लाख कैश के साथ पकड़ा है. अनिल कुमार दरभंगा ग्रामीण कार्य विभाग में अधीक्षण अभियंता के पद पर तैनात हैं. फकुली ओपी पुलिस पंचायत चुनाव के मद्देनजर वाहनों की जांच कर रही थी. कैश से भरा बैग लेकर जा रही स्कार्पियो को शनिवार दोपहर पुलिस ने पकड़ा है जिसमे 18 लाख रुपए जब्त किए गए हैं. रूपए गाड़ी की डिक्की में बैग में रखी हुई थी.

अधीक्षण अभियंता और उनके चालक से लंबी पूछताछ की गई है. फ़िलहाल पुलिस ने चुनाव आचार संहिता उल्लंघन के आरोप में एफआईआर दर्ज कर लिया है. जिला पुलिस और आयकर विभाग मामले की जांच में जुट गई है. पुलिस की ओर से मिली जानकारी के अनुसार इंजीनियर अनिल कुमार सफेद स्कॉर्पियो में रुपये भरकर पटना जा रहे थे. पुलिस ने गाड़ी चेकिंग के दौरान इन्हें पकड़ा है. रुपये किसके हैं और किस काम के लिए लेकर जा रहे थे, इस बिंदु पर पूछताछ की जा रही है. सूत्रों के अनुसार बरामद राशि दरभंगा के किसी ठेकेदार की है. हालांकि, पलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है. पुलिस ने कहा कि जांच व पूछताछ पूरी होने के बाद ही कुछ स्पष्ट हो पायेगा.

भक्तों का इंतज़ार हुआ ख़त्म, बिहार में खुल गए मंदिर और अन्य धार्मिक स्थलों के दरवाजे

कोरोना के दूसरी लहर को देखते हुए कोरोना गाइडलाइन के मुताबिक मंदिर के दरवाजे बंद कर दिए गए थे. अब सरकार ने भक्तों की मांग पर अनलॉक 6 में मंदिर और अन्य धार्मिक स्थलों के दरवाजे भक्तों के लिए खोल दिए हैं. अनलॉक 5 तक सभी मंदिर धर्मस्थल को बंद ही रखा गया था लेकिन जनता और श्रद्धालुओं की मांग पर सरकार ने मंदिर, धर्मस्थल खोलने के आदेश दे दिए हैं जिससे लोगो में ख़ुशी कि लहर हैं. भक्तों को अब तक भगवान् के दर्शन बाहर से ही करने पड़ते थे और उसके बाद में वहां से लौट जाना पड़ता था. 26 अगस्त को मंदिर का दरवाजा खुलते ही पटना के मंदिरो में भक्त दर्शन के लिए पहुंचने लगे.

पटना जंक्शन स्थित हनुमान मंदिर के गेट खुलते ही भक्त भगवान के दर्शन करने पहुंचे. लंबे समय के इंतज़ार के बाद भक्तो ने भगवान हनुमान मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना कर फूल-माला और प्रसाद चढ़ाया. वहीं पटना के गुलजारबाग अगमकुआं में स्थित माता शीतला मंदिर के गेट भी आज से भक्तो के लिए खोल दिए गए. दरभंगा हाउस स्थित काली मंदिर, गुलजारबाग में बड़ी पटन देवी, पटना सिटी में छोटी पटन देवी और गया में विष्णुपद मंदिर और बिहार के तमाम मंदिरो का पट खोल दिया गया है. मंदिर परिसर खुलने से भक्त काफी खुश हैं.

पति ने अपनी ही गर्भवती पत्नी और मासूम बच्चो की कुदाल से काटकर कर दी हत्या

कैमूर/बिहार : बिहार के कैमूर जिले से एक सनसनीखेज खबर प्रकाश में आया है. जहां एक निर्दयी पति ने अपने 9 माह गर्भवती पत्नी और अपने दो बच्चो की कुदाल से काटकर हत्या कर दी. आरोपित पति का नाम लालबाबू है. मिली जानकारी के अनुसार, इस घटना को मंगलवार रात करीब 12 बजे अंजाम दिया गया है. हत्या के कारण का अब तक पता नहीं चल सका है. घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी अपने घर में ही था. जब गांव वालो को इस घटना की सूचना मिली तो गांव वालों ने आरोपी को उसके घर में ही कैद कर दिया जिसके बाद गांव वालों ने मृतक महिला के मायके वालों को इस घटना कि जानकारी दी. बुधवार सुबह मायके वालों ने पुलिस को इस घटना की सूचना दी. घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक महिला के पति को गिरफ्तार कर लिया.kaimur-

गांव वालो का कहना है की देर रात पति-पत्नि में घरेलू विवाद हुआ था. बताया जा रहा है की घरेलू विवाद में ही सनकी पति ने अपनी मासूम गर्भवती पत्नी, एक बेटा और एक बेटी को कुदाल से काट दिया. आरोपी के ससुर सुरेंद्र गुप्ता ने बताया कि उनकी बेटी को ससुराल पक्ष के लोग हमेशा प्रताड़ित किया करते थे. भभुआ थाना के प्रभारी ने बताया कि आरोपी लालबाबू को गिरफ्तार कर लिया गया हैं और महिला और उसके बच्चो के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं. पुलिस आगे कि कार्रवाई में जुट गई है.

पति के 39 लाख में 11 रूपए बैंक में छोड़ पत्नी अपने प्रेमी संग फरार

बिहार के पटना जिले के बिहटा थाना क्षेत्र से एक दिलचस्प कहानी सामने आई हैं. जहां एक महिला ने अपने पति को धोखा देकर 39 लाख लेकर अपने प्रेमी के संग फरार हो गई. महिला कि शादी 14 साल पहले हुई थी. शादी के बाद उसके 2 बच्चे भी हैं. जब पति को इस बात का पता चला तो पति ने बिहटा थाना में अपने पत्नी और उसके प्रेमी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया और न्याय की गुहार लगाई हैं. बताया जा रहा है कि बिहटा के कौड़‍िया में रहने वाले ब्रज किशोर सिंह कि शादी भोजपुर जिले के बड़हरा थाने के बिंदागांव की प्रभावती देवी से 14 वर्ष पहले हुई थी. इन दोनों के दो बच्चे एक लड़का और एक लड़की हैं. जब बच्चे बड़े होने लगे तो उनकी पढाई को देखते हुए दोनों ने शहर में रहने का फैसला किया और वे दोनों शहर में किराया के मकान में रहने लगे. कुछ समय किराये के मकान में रहने के बाद पत्नी ने अपने पति से कहा की शहर में अपना एक खुद का मकान बन जाये तब अच्छा रहेगा. घर के लिए ब्रज किशोर सिंह ने शहर में घर बनाने के लिए अपनी खानदानी जमीन 39 लाख रुपया में बेच दिया. पत्नी के प्रेम और विश्वास को देखते हुए पति ने सारे पैसे पत्नी के खाते में जमा करवा दिए और वह गुजरात काम करने चला गया. इसी बीच प्रभावती देवी को अपने परोस में रहने वाले एक युवक के साथ प्रेम प्रसंग शुरू हो गया. वह रोज एक दूसरे से घंटो बाते करने लगे. पति को धोखे में रखकर उसने युवक के साथ सभी सीमायें पार कर ली.

ब्रज किशोर ने बताया कि उसकी पत्नी ने कहा कि जब हम लोग शहर में ही रहते हैं तो क्यों न अपना घर यहीं बना लिया जाए. कब तक किराया देते रहेंगे . उसकी बातों में आकर मैंने गांव का जमीन बेच दिया. उससे मिले 39 लाख रुपए मेने अपनी पत्नी के एकाउंट में डाल दिया, ताकि उस रुपए से शहर में जमीन खरीदकर घर बनवा सकें और खुशी-खुशी जीवन बसर कर सकें. ब्रज किशोर गुजरात से दो दिन पहले ही वापस आया था ताकि वह शहर में जमीन ले सके. जब वह घर पंहुचा तो उसने देखा कि घर में ताला लगा हैं. तब उसने घर मालिक से बात कि तो उसने बताया कि आपकी पत्नी सोमवार को ही बेटी को लेकर कही चली गई. काफी खोजबीन कि लेकिन कोई पता नहीं चला, तब ब्रज किशोर ने अकाउंट चेक किया तो पाया कि अकाउंट में सिर्फ 11 रुपये ही हैं. फिलहाल बेटा अपने पिता के साथ है. पुलिस ने मामले कि छानबीन कर यह पता लगया है कि प्रभावती किसी युवक से प्रेम करती थी. पति के गुजरात रहने के दौरान वह उस युवक से संबंध बनाए रखती थी. प्रभावती के अकाउंट डिटेल से पता चला है कि उन्होंने 26 लाख रुपए किसी डेहरी निवासी एक व्यक्ति के अकाउंट में ट्रांसफर किए हैं, जबकि 13 लाख रुपए चेक द्वारा निकालने के सबूत मिले हैं. उसने अपने अकाउंट में सिर्फ 11 रुपए छोड़ा है. पुलिस इस मामले में आगे के छानबीन में जुट गई है.

बिहार : मुहर्रम के जुलुस में फंसे परिवार पर लाठी डंडों से हमला और लूट पाट

कटिहार/बिहार : बिहार राज्य के कटिहार के कोढ़ा थाना क्षेत्र में मूसापुर के पास मोहर्रम के जुलूस में शामिल कुछ बदमासो ने स्कॉर्पियो में सवार मुस्लिम परिवार पर लाठी-डंडे से हमला कर दिया. साथ ही गाड़ी में बैठे लोगों के नकद और मोबाइल भी लूट लिये. कहा जा रहा है कि स्कॉर्पियो पर सवार मां-बेटा पूर्णिया से इलाज कराकर लौट रहे थे. तभी भीड़ इतनी ज्यादा थी कि डर के मारे वह गाड़ी में ही बैठे रहे, किसी तरह जान बचाने की प्रार्थना करते रहे. डूमर निवासी मोहम्मद मसूद आलम का कहना कि अम्मी का इलाज करा कर पूर्णिया से घर लौट रहे थे. इस दौरान मूसापुर चौक के समीप NH-31 पर ही मुहर्रम का जुलूस था. इसमें शामिल लोगों ने हमारी गाड़ी पर लाठी डंडों की बरसात कर दी. तभी कुछ लोगो ने भाई से 7000 रुपए नकद और मेरा मोबाइल भी छीन लिया गया. इस घटना में मसूद की अम्मी सहित उनके तीन अन्य परिवार वाले भी घायल हो गए, जिसे स्वास्थ्य केंद्र कोढ़ा में भर्ती कराया गया हैं.

घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर SDPO अमर कांत झा, अनुमंडल पदाधिकारी शंकर शरण ओमी, पुलिस दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और घटनास्थल कि पूरी तरह से घेरा कर दिया. वही पुलिस का कहना है की ‘जब कोरोना गाइडलाइन के अनुसार मुहर्रम का जुलूस निकालना मना था तो फिर जुलूस कैसे निकला? पुलिस का कहना है कि जुलूस निकालने वालों पर कार्रवाई होगी. उधर, पीड़ितों ने इस घटना कि सुचना कोढ़ा थाना में आवेदन दे दी है और न्याय की गुहार लगाई है. SDPO अमरकांत झा का कहना है कि पुरे मामले को नियंत्रित कर लिया गया है. मौके पर पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है. जुलूस निकालने वाले सभी लोगो पर कार्रवाई कि जाएगी. पीड़ित ने भी थाने में आवेदन दे दिया है.

बता दें की बिहार सरकार का स्पष्ट आदेश है कि मुहर्रम का कोई भी जुलूस नहीं निकाला जाएगा. जिला प्रशासन ने भी सभी थानों को अलर्ट मोड पर रहने का आदेश दिया था. इसके बावजूद कोढ़ा थाना क्षेत्र में मोहर्रम पर जुलूस निकलना सवालिया निशान उठा रहा है. हालांकि इस मामले में पुलिस का कहना है कि जुलुस निकालने में जिन लोगों का हाथ है उन सभी को चिह्नित कर कार्रवाई की जाएगी.

बिहार के सिनेमाघरों में बेल बॉटम का धमाल, फिल्म हाउस फुल, 50% सीट पर 3 शो में टूटा रिकॉर्ड

कोरोना कि दूसरी लहर के बाद पहली बार बॉक्स ऑफिस पर रिकॉर्ड टूटा है जिसमे 50 प्रतिशत सीट पर बुकिंग के बाद चल रहे 3 शो पूरी तरह से हाउसफुल चले. पहले से ही दिन अक्ष्य कुमार को बड़े पर्दे पर देखने के लिए लोगों की भीड़ जुटी. कोरोना काल में लंबे समय से बंद पटना के सिनेमा घरों के मालिक को बेल बॉटम से काफी राहत मिली है. दर्शकों को भी काफी दिनों बाद बड़े पर्दे पर अपने पसंदीदा एक्टर को देखने का मौका मिला है. गुरुवार को रिजेंट सिनेमा घर में बेल बॉटम मूवी देखने के लिए लोगों की भीड़ जुटी लेकिन सीट कम होने के कारण ऑनलाइन ही फुल हो गई थी. 3 शो में कम ही सीट बची थी और वह भी फिल्म शुरु होने के काफी पहले ही बुक हो गई थी. ऐसे में अधिक संख्या में लोगों को निराश होकर वापस लौटना पड़ा. कोरोना की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए भीड़ को कंट्रोल करने के लिए भी पूरी तैयारी की गई थी. इस कारण से कोई समस्या नहीं हुई. हर शो में लोगों को निराश लौटन पड़ा.

लंबे अरसे से बंद सिनेमा घरों की शुरुआत 13 अगस्त को इंगलिश मूवी की हिंदी डबिंग के साथ हुई थी. हालांकि इस दौरान दर्शकों की काफी कमी रही. एक बार फिर सिनेमाघरों का उत्साह बेल बॉटम फिल्म ने बढ़ाया है. कोरोना काल में 3 शो ही चल रहे हैं और हर शो के बीच में आधा घंटे का समय सैनिटाइजेशन के लिए रखा गया है. 17 अगस्त से पटना सहित बिहार राज्य के अन्य शहरों के सिनेमा घर चालू किए गए हैं. कोरोना की दूसरी लहर में 20 अप्रैल 2021 को बिहार में सभी सिनेमा घर बंद कर दिए गए थे. कोरोना गाइडलाइन को देकते हुए मास्क के साथ सोशल डिस्टेंस पर खासा ध्यान दिया जा रहा है. सिनेमा घर के मैनेजर का कहना है कि बिना मास्क के किसी काे सिनेमा घरों में प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा. साथ ही सिनेमा घरों को पूरा सैनिटाइज करने को लेकर भी विशेष व्यवस्थ की गई है और सरकार के निर्देश के अनुसार शो के बीच में आधे घंटे के लिए सैनिटाइजेशन किया जा रहा हैं.