Homeबिहारलोजपा की टूट पूरे देश की राजनीति में बना चर्चा का विषय

लोजपा की टूट पूरे देश की राजनीति में बना चर्चा का विषय

- Advertisement -

बिहार की राजनीति से बड़ी खबर सामने आयी है जो कि बिहार मे ही नहीं बल्कि पूरे देश में चर्चा का विषय बन गया है। चिराग पाससवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी (LJP ) एलजेपी में अचानक बगावत हो गयी। यह बगावत किसी और ने नहीं बल्कि चिराग पाससवान के चाचा पशुपति पारस ने की है। इस बगावत के बाद चिराग पासवान अकेले पड़ते नजर आ रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक लोजपा के पांचों सांसद पशुपति कुमार पारस, चौधरी महबूब अली कैसर, वीणा देवी, चंदन सिंह और प्रिंस राज ने चिराग के चाचा पशुपति कुमार पारस को अपना नेता चुन लिया है। नए नेता चुने जाने का पत्र भी लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला को सौंप दिया गया है।

- Advertisement -

अगर लोकसभा स्पीकर द्वारा संसदीय दल के नेता के रूप में पशुपति पारस को मान्यता दे दी जाती है तब चिराग पासवान की एलजेपी संसदीय दल के नेता के तौर पर मान्यता खत्म हो जाएगी। ऐसे में सवाल यह बन गया है कि लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान का अब क्या होगा? सियासी गलियारे में चर्चाओं के बीच चिराग पासवान को लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से आफर मिल गया है पटना की मनेर विधानसभा से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक भाई वीरेंद्र ने बड़ा बयान दिया है। लोजपा में टूट की खबरों के बीच मनेर विधायक ने कहा कि अगर जमुई से सांसद चिराग पासवान चाहें तो उनका राजद में स्वागत है। बता दें कि इससे पहले भी महाराष्ट्र की राजनीति में भी चाचा और भतीजे में राजनीतिक तकरार को देश में पहले भी देखा गया है।

- Advertisement -

न्यूज़ अपडेट

- Advertisment -

शिक्षा एवं रोजगार

- Advertisment -