Homeबिहारबिहार में बाढ़ से बेकाबू हुए हालात, कई जिले हुए प्रभावित, गंगा...

बिहार में बाढ़ से बेकाबू हुए हालात, कई जिले हुए प्रभावित, गंगा सहित कई नदियां उफान पर

- Advertisement -

बिहार में बाढ़ ने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है. हर साल बिहार बाढ़ से ग्रस्त होता है. इस साल अभी तक बिहार के 15 जिलों में बाढ़ की स्थिति भयावह है. गंगा नदी का जलस्तर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. गंगा के आलावा भी कई नदियां फिर से उफान पर है. अधवारा समूह की नदियों में भी जलस्तर काफी बढ़ गया है. जयादातर नदियां खतरे के निशान से काफी ऊपर बह रही हैं. लगभग आधे बिहार में बाढ़ का संकट छाया हुआ है. मौसम विभाग ने 11 जिलों में 15 अगस्त तक भारी बारिश की चेतावनी दी है जिससे हालात और बिगड़ सकते हैं. राजधानी पटना के घाटों पर खतरनाक स्थिति बनी हुई है. दीघा से लेकर कंगन घाट तक पूरी तरह डूबे हुए हैं. प्रशासन ने लोगों को गंगा घाट पर आने से मना किया हुआ है. बाढ़ के कारण लोगों के लिए जिला प्रशासन द्वारा सामुदायिक किचेन तैयार किया गया है जहां लोगों को दोनों टाइम भोजन दिया जा रहा है.flood-bihar

- Advertisement -

आपदा प्रबंधन विभाग बाढ़ प्रभावित जिलों में राहत व बचाव का कार्य तेज कर दिया है और सभी प्रमुख नदियों के जलस्तर पर लगातार निगरानी की जा रही है. विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पटना के अलावा दरभंगा, वैशाली, भोजपुर, लखीसराय, मुजफ्फरपुर, खगड़िया, सहरसा, भागलपुर, सारण, बक्सर, बेगूसराय, कटिहार, मुंगेर, सीतामढ़ी और समस्तीपुर जिले बाढ़ से प्रभावित हैं. इन जिलों में रहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की 8 और एसडीआरएफ की 9 टीमों को तैनात किया गया है. 4 एनडीआरएफ की और 5 एसडीआरएफ की टीम अन्य बाढ़ प्रभावित जिलों में पहले से तैनात किये गए हैं. बिहार के भागलपुर जिले में बाढ़ की स्थिति लगातार विकराल होती जा रही है. शनिवार को बरियारपुर के पास अप और डाउन लाइन में पानी चला गया जिसके चलते भागलपुर व पटना के बीच ट्रेनें बंद कर दी गई हैं. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कई सामुदायिक किचेन संचालित हैं.flood-bihar-2

- Advertisement -

न्यूज़ अपडेट

- Advertisment -

शिक्षा एवं रोजगार

- Advertisment -